मोटापा कम करने के योग-HealthPlusHindi

By | April 10, 2018

मोटापा कम करने के योग:

आज के समय में सभी अपने सौंदर्य, रहन-सहन और फिटनेस को लेकर जागरूक हैं। जिसका प्रमाण जिम व पार्लर में युवाओं की बढ़ती संख्या से सीकने को मिलता है। साथ ही बाज़ार में महिलाओं और पुरुषों दोनों के लिए सौंदर्य यानि की मोटापा कम करने के प्रोडक्ट्स मिल रहे हैं, हालाँकि इनमें से कुछ तो विश्वसनीय होते हैं लेकिन अधिकतर अपनी कसौटियों पर खरे नहीं उतर पाते। ऐसे में जरूरत होती हैं उन तरीकों या विधियों की जिनपर आँख मूँद कर भरोसा किया जा सके, वो योग ही है |

योग के लाभ:

  • सभी रोगों में लाभदायक होने के साथ ही शरीर की फालतू चर्बी कम कर शरीर का वज़न कम हो जाता है।
  • शरीर में चुस्ती-फुर्ती बनी रहती हैं व उछलने-कूदने में आसानी रहती हैं।
  • योगा से कोलेस्ट्रोल घटता है।
  • पेट की क्रियाओं के साथ-साथ पूरे शरीर का व्यायाम हो जाता हैं, ऐसे सभी व्यायाम से रक्तचाप सामान्य रहता है।
  • कपालभाती प्राणायाम और भस्त्रिका प्राणायाम से शरीर की चरबी कम होती  है,यह इस प्राणायाम का सबसे बडा फायदा है।

सावधानियां:

  • योगा करने के दौरान बीच-बीच में कुछ देर का अंतराल देते हुए श्वासन करें।
  • यदि व्यक्ति हार्ट का पेशेंट हो तो मुश्किल व दवाब वाले आसन न करें।
  • ठंडी जमीन पर योगा न करें बल्कि कोई दरी-चादर इत्यादि बिछाएं।
  • योगा नंगे पैर ही करें।
  • योगा खाली पेट ही करें या फिर भोजन के तीन-चार घंटे का अंतराल अनिवार्य हैं।
  • योगा रोजाना निशचित समय पर ही करना चाहिए

कपालभाती प्राणायाम करने के लाभ :

पेट की चरबी घटाने के लिए यह एक रामबाण उपाय है। इस आसन को करने से शरीर का वज़न कम होता है। इस गुणकारी आसन के प्रभाव से मोटापा घटाने में तो मदद मिलती ही है पर, उसके साथ साथ चहेरे की सुंदरता में भी निखार आता है। अगर किसी को आँखों के नीचे dark circles हो जाने की शिकायत रहती हो तो उन्हे कपालभाती आसन रोज़ करना चाहिए। पेट की तकलीफ़ों से पीड़ित व्यक्ति भी कपालभाती कर के पेट के रोगों से मुक्ति पा सकते हैं। कपालभाती आसन सुबह करना अत्यंत गुणकारी है। और पेट साफ कर लेने के बाद (शौच के बाद) करना चाहिए |यह आसन कैसे किये जाते है यह जानने लिए यहाँ क्लिक करे। Youtube video 

वीरभद्रासन प्राणायाम करने के लाभ :

वीरभद्रासन से घुटने के पीछे की नस, जाँघे, पैर और टखनें मजबूत होते है, क्योकि जांघें जब आगे की ओर झुकती है तो शरीर का वजन उसके ऊपर स्थान्तरित हो जाता है। यह पेट के स्नायुओं को बल देता है जिससे आंतरिक शक्ति की बढ़ती है। आंतरिक शक्ति के बढ़ने से हम लंबे समय तक कार्यशाली बने रहते हैं। यह आसन कैसे किये जाते है यह जानने लिए यहाँ क्लिक करे।    Youtube video 

धनुरासन प्राणायाम करने के लाभ:

यह एक आधुनिक आसान जो ना केवल मोटापा कम करता है बल्कि भुजाओं और पैरों को भी पुष्ट करने में भी सहायक होता है। इस आसान में पेट के स्नायुओं पर खिंचाव का अहसास होता है। यह खिंचाव पेट के स्नायुओं को लचीला कर देता है। लगातार इस आसन को करने से पेट लचीला और वसा कम हो जाता है। यह आसन कैसे किये जाते है यह जानने लिए यहाँ क्लिक करे।  Youtube video 

त्रिकोणासन प्राणायाम करने के लाभ:

पेट के स्नायुओं के साथ साथ शरीर के अन्य भागों की माँस पेशियों के लिए भी व्यायाम बहुत आवश्यक है। एक निश्चित उम्र के बाद शरीर बढना बंद कर देता है और पेट के आसपास वसा एकत्रित होने लगता है। त्रिकोणासन इन बढ़े हुए वसा को कम करनें में मदद करता है। यह आसन शायद ज्यादा कैलोरी कम ना करें पर फिर भी कमर की इंच कम करने का साधन हो सकता है। यह आसन कैसे किये जाते है यह जानने लिए यहाँ क्लिक करे।  Youtube video

बालासन प्राणायाम करने के लाभ:

सर्वप्रथम आसन जमा लें, फिर घुटनों को पीछे की ओर मौड़ कर घुटनों के बल बैठ जाएँ। ऐडियों पर शरीर का वज़न बनाते हुए, और साँस अंदर लेते हुए आगे की और झुकें। अब आप के हाथ सीधे होने चाहियेँ और हथेलियाँ ज़मीन की और लगी होनी चाहिए। यह सुनिश्चित करें की आप की छाती आपकी जांघों और घुटनों के अग्र भाग को छुनी चाहिये। साथ ही आप का मस्तक ज़मीन को छूना चाहिये। इस आसन को तीन से पाँच मिनट करें फिर थोड़ा आराम लें और इस आसन को चार से पाँच बार दोहराएँ।

हेल्लो दोस्तों आज की यह पोस्ट केसी लगी कमेंट्स करके बताना और पोस्ट को शेयर जरुर करना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *