वीरभद्रासन कैसे करें-

By | April 19, 2018

वीरभद्रासन :

इस आसन को करने से शरीर स्वस्थ रहता है और साथ ही ताकत और मजबूती भी आती है। वॉरियर पोज को करने में पैर, बांह और कंधा मूल रूप से हिस्सा लेता है। यह आत्मविश्वास को बढ़ाता है और साथ ही शरीर की ऊर्जा शक्ति को भी बढ़ावा देने में मदद करता है।

वीरभद्रासन करने की विधी:

  • सबसे पहले सीधे खड़े हो जाए। फिर सांस अंदर लें और पैरों को खोल लें।
  • ध्यान रहे कि दोनों पैरों के बीच कम से कम 3 से 4 फीट की दूरी रहे।
  • अपने दाएं तलवे को सीधा रखें और बाएं तलवे को बाई ओर घुमाएं। बाद में दाई तरफ घुम जाएं
  • सांस को बाहर छोड़ते हुएं दोनों हाथों को ऊपर उठाएं। ध्यान रहे की दोनों हथेली खुले होने चाहिए।
  • वापस अपने सही पोजिशन में आ जाएं।
  • ऐसी प्रक्रिया को दूसरी तरफ से भी करें।

Video देखने के लिय यहाँ पर click करे  YouTube video

वीरभद्रासन करने के लाभ:

  • हाथ, पैर और कमर को मजबूती प्रदान करता है।
  • बैठ कर कार्य करने वालों के लिए अत्यंत लाभदायक है।
  • कंधो के तनाव में तुरंत मुक्त करता है।
  • घुटनों के दर्द, कमर दर्द आदि ख़त्म हो जाते है।
  • वीरभद्रासन शान्ति की वृद्धि करता है।
  • घुटने को मजबूत करता है।
  • रीढ़ की हड्डी को ताकत प्रदान करता है।
  • इस आसन से आपकी पाचन शक्ति मजबूत रहती है साथ ही इससे कई सारी पेट की बीमारियाँ जैसे- कब्ज आदि से छुटकारा मिलता है |
  • पीरियड्स को नियमित रखता है।

सावधानियां-

  • वे लोग जिन्‍हें हाई ब्‍लडप्रेशर, हार्ट समस्‍या, कंधे में दर्द, गर्दन में दर्द आदि है उन्‍हें इस योग को सावधानी के साथ करना चाहिये।

हेल्लो दोस्तों आज की यह पोस्ट केसी लगी कमेंट्स करके बताओ और साथ ही  साथ शेयर जरुर करना धन्यवाद आप को

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *