Category Archives: Yoga||योग

In this page only for yoga tips in hindi

Sarvangasana Benefits || सर्वांगासन: विधी, फायदे, सावधानी

By | May 21, 2018

Sarvangasana Benefits || सर्वांगासन: विधी, फायदे, सावधानी: सर्वांगासन अर्थात सर्व अंग आसन, इस आसन को करने से पूरे शरीर यानि पैर की उंगलियों से लेकर मस्तिष्क तक फायदा पहुंचता है। पांवों से ले कर सर तक खून गतिमान हो कर शरीर के हर अंग को नयी उर्जा प्रदान करता है यह आसन करने में थोडा… Read More »

उर्ध्वोत्तानासन योगासन: विधी, फायदे, सावधानियां

By | May 21, 2018

उर्ध्वोत्तानासन योगासन: विधी, फायदे, सावधानियां: उर्ध्व – ऊपर, तान – तानना। शरीर को ऊपर की ओर तानते हुए त्रिबंध की स्थिति में स्थिर रहना ही उर्ध्वोत्तानासन कहलाता है। इस आसन के नियमित अभ्यास से रीढ़ लचीली बनने से लंबाई बढ़ाने में मदद मिलती है। उर्ध्वोत्तानासन विधी: इस आसन को करने के लिए सबसे पहले सावधान… Read More »

Shirshasana Yoga || शीर्षासन: विधी, फायदे, सावधानियां

By | May 21, 2018

Shirshasana Yoga || शीर्षासन: विधी, फायदे, सावधानियां: शीर्षासन दो शब्द मिलकर बना है -शीर्ष जिसका मतलब होता है सिर और आसन जिसके माने होता है योग मुद्रा। शास्त्रों में 84 लाख आसनों का जिक्र है, यह एक ऐसा आसन है जिसे करना काफी मुश्किल है। लेकिन इसके अभ्यास से हम सदैव बड़ी-बड़ी बीमारियों से दूर… Read More »

Tadasana Benefits || ताड़ासन योग: विधी, लाभ, सावधानीया

By | May 20, 2018

Tadasana Benefits || ताड़ासन योग: विधी, लाभ, सावधानीया : शरीर की लम्बाई बढ़ाने और मांसपेशियों को लचीला बनाने के लिए इस आसन का प्रयोग किया जाता है। ताड़ासन का संधि विच्छेद करने पर यह – ताड़ + आसन शब्दों से बना होता है। यहाँ ताड़ का अर्थ ताड़ के पेड़ से है और आसन का अर्थ… Read More »

Paschimottanasana || पश्चिमोत्तानासन योग: विधि, लाभ, सावधानी

By | May 20, 2018

Paschimottanasana || पश्चिमोत्तानासन योग: विधि, लाभ, सावधानी: पश्चिमोत्तानासन दो शब्द मिल कर बना है -‘पश्चिम’ का अर्थ होता है पीछे और ‘उत्तांन’ का अर्थ होता है तानना। इस आसन के दौरान रीढ़ की हड्डी के साथ शरीर का पिछला भाग तन जाता है जिसके कारण इसका नाम पश्चिमोत्तानासन दिया गया है। कुंडलिनी जागरण और मेरुदंड… Read More »

Surya Namaskar ke Labh || सूर्य नमस्कार के लाभ

By | May 20, 2018

Surya Namaskar ke Labh || सूर्य नमस्कार के लाभ: सूर्य नमस्कार सभी योगासनों में से सर्वश्रेष्‍ठ माना गया है। सूर्य नमस्कार का मतलब है, सुबह में सूर्य के आगे झुकना। सूर्य इस धरती के लिए जीवन का स्रोत है। आप जो कुछ खाते हैं, पीते हैं और सांस से अंदर लेते हैं, उसमें सूर्य का… Read More »

Height Badhane ke Liye Yoga || हाइट बढ़ाने के 10 योग आसन

By | May 20, 2018

Height Badhane ke Liye Yoga || हाइट बढ़ाने के 10 योग आसन: ऐसा माना जाता है की लम्बाई genetics के अनुसार बढ़ती है, लेकिन ऐसा देखने में आया है की बहुत से लोगों के माता पिता की लम्बाई कम थी और उनके बच्चों की उनसे कई ज्यादा. तो यह तथ्य हमें आश्चर्य में डालता है और… Read More »

आसन क्या है

By | April 30, 2018

आसन क्या है: बैठने का स्थान का अर्थ है जिस पर बैठते हैं जैसे-मृगछाल, कुश, चटार्इ, दरी आदि का आसन। सुविधापूर्वक एक चित और स्थिर होकर बैठने को आसन कहा जाता है। आसन के दूसरे अर्थ से तात्पर्य है शरीर, मन तथा आत्मा की सुखद संयुक्त अवस्था या शरीर, मन तथा आत्मा एक साथ व स्थिर हो जाती… Read More »

Marjariasana in Hindi || मर्जरियासन योग

By | April 28, 2018

Marjariasana in Hindi || मर्जरियासन योग: बिल्ली को मार्जर भी कहते हैं, इसलिए इसे मर्जरियासन कहते हैं। यह योग आसन शरीर को उर्जावान और सक्रिय बनाये रखने के लिए बहुत फायदेमंद है। इस आसन से रीढ़ की हड्डियों में खिंचाव होता है जो शरीर को लचीला बनाता है। विधि : अपने घुटनों और हाथों के… Read More »

Ardha Chandrasana अर्द्धचक्रासन योग

By | April 28, 2018

Ardha Chandrasana अर्द्धचक्रासन योग: अर्ध का अर्थ आधा और चंद्रासन अर्थात चंद्र के समान किया गया आसन। इस आसन को करते वक्त शरीर की स्थिति अर्ध चंद्र के समान हो जाती है, इसीलिए इसे अर्ध चन्द्रासन कहते है। इस आसन की स्थि‍ति त्रिकोण समान भी बनती है इसे त्रिकोणासन भी कह सकते है, क्योंकि दोनों… Read More »