Chickenpox
Chickenpox

Chickenpox: Treatment, symptoms, vaccine || चिकनपॉक्स का इलाज:

चिकन पॉक्स को हिन्दी में छोटी माता के नाम से भी जाना जाता है। चिकन पॉक्स वेरीसेल्ला जोस्टर वायरस से फैलनेवाली एक संक्रामक बीमारी है। यह बहुत ही संक्रामक होती है।

चेचक ऐसे लोगों को ज्यादा होता है जो बीमार न पड़ते हों या जिन्होंने चेचक से बचने के लिए टीकाकरण न करवाया हो। चेचक के टीके भी लगाये जाते है जिसके कारण चेचक नही होता है।

Chickenpox
Chickenpox

लक्षण:

  • कमर में तेज दर्द हो सकता है।
  • सिरदर्द तथा बुखार होना।
  • दोदरे फफोलों में बदलना, मवाद से भरना, फूटना और खुरदरे पड़ना।
  • सीने में जकड़न होना।
  • कमजोरी महसूस होना।
  • इसमें तेज खुजली होती है।
  • मवाद आने लगता है, मवाद फूटकर खुरदुरा हो जाता है।

 घरेलू उपचार:

  • उबले गाजर और धनिया खाने से चिकन पॉक्स से आई कमजोरी कम होती है।
  • गाजर और धनिया का सूप बनाकर पीने से राहत मिलती है।
  • विटामिन-ई युक्त तेल को शरीर पर लगाने से चिकन पॉक्स के दौरान होने वाली खुजली से राहत मिलती है।
  • समय समय पर एक गिलास साफ पानी में नींबू निचोड़कर पीते रहें।
  • नीम की पत्तियों को गर्म पानी में डालकर नहाने से खुजली समाप्त होती है।
  • हरी मटर को पानी में पकाकर इसके पानी को शरीर में लगाइए, इससे चिकन पॉक्स के लाल चकत्ते समाप्त होते हैं।

उपचार:

  • चिकन पॉक्स हो तो डॉक्टर को दिखाना चाहिए
  • 12 से 15 महीनों की उम्र के बीच बच्चों को चिकन पॉक्स का टीका दिया जाता है
  • 4 से 6 वर्ष की उम्र के बीच बूस्टर टीका लगवा लेना चाहिये।

तो दोस्तों आज की यह पोस्ट केसी लगी कमेन्ट करके बताना | धन्यवाद् |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here