Headache || Sir Dard ka Yoga || सिर दर्द का इलाज

By | May 16, 2018

Headache || Sir Dard ka Yoga || सिर दर्द का इलाज :

आज की इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में सिर दर्द एक सामान्य बात है सिरदर्द एक आम समस्या है। सिर के किसी भी हिस्से में दर्द हो सकता है और यह दर्द केवल लक्षण होता है जो कि सिर की किसी बीमारी को दर्शाता है। कई बार बहुत ज्यादा तनाव लेने, थकावट होने, भूखे रहने, गर्मी तेज होने या किसी आम शारीरिक समस्या जैसे कि बुखार या जुकाम के कारण भी सिर दर्द हो सकता है।

दवाइया और चाय-कॉफी पी लेने से सरदर्द से छुटकारा भी मिल जाता है। लेकिन क्या आप जानते है यह स्थाई इलाज नहीं है। बार बार दवाई का सेवन भी शरीर के लिए अच्छा नहीं है। क्योकि वैसे तो सिरदर्द थकान या भूख के वजह से होता है। लेकिन कई बार इसके पीछे की वजह अत्यधिक तनाव और आँखों की कमजोरी भी होता है।Sir Dard ka Yoga

सिर दर्द के कारण:

  • सिरदर्द कुछ बिमारियों में तो एक लक्षण मात्र होता है, जैसे – ज्वर, फ्लू, माता आदि।
  • कभी स्वतंत्र रूप से केवल सिर दर्द होता है. ऐसा सिरदर्द स्वयं एक रोग है।
  • तनाव होने के कारण सिर दर्द होने लगता है।
  • दिमाग की रक्त वाहिनियों में बदलाव होने से होने वाले दर्द को माइग्रेन का दर्द कहा जाता है।
  • ठंडी चीजों को खाने से भी सिर दर्द की शिकायत हो सकती है।
  • नेत्रों की कमजोरी, नेत्र रोग, कान, नाक, गले, दांतों के रोगों से सिरदर्द होता है।
  • ऐसी कोई भी समस्या जिससे आंखों पर तनाव पड़ता हो, सिर दर्द होने की वजह हो सकता है।
  • किसी पदार्थ की लत के कारण सिर दर्द होना।
  • सुबह देर तक उठने से सिरदर्द की शिकायत होती है।
  • नींद कम आने, ना आने से भी सिरदर्द रहता है।
  • ज्वरों में सिरदर्द मस्तिष्क आवरणगत धमनियों के फ़ैल जाने से होता है।

सिर दर्द के इलाज:

  • गर्मियों में ठंडे तेल की मालिश भी सिर दर्द से राहत दे सकती है।
  • गर्मी हैं तो ठंडा पानी पीएं और सर्दियां हैं तो सिर को ठंड से बचाकर रखें।
  • बादाम और अखरोट जैसे ड्राई फ्रूट को रोज खाएं, इससे तनाव कम होता है और दिमाग मजबूत होता है।

सिर दर्द के घरेलू इलाज:

तुलसी की पत्त‍ियों:

तुलसी की पत्त‍ियों को पानी में पकाकर उसका सेवन कीजिए. ये किसी भी चाय और काॅफी से कहीं अधिक कारगर और फायदेमंद है।

लौंग:

तवे पर लौंग की कुछ कलियों को गर्म कर लीजिए। इन गर्म हो चुकी लौंग की कलियों को एक रूमाल में बांध लीजिए। कुछ-कुछ देर पर इस पोटली को सूंघते रहिए। आप पाएंगे कि सिर का दर्द कम हो गया है।

काली मिर्च और पुदीने की चाय:

सिर दर्द में काली मिर्च और पुदीने की चाय का सेवन करना भी बहुत फायदेमंद होता है। आप चाहें तो ब्लैक टी में पुदीने की कुछ पत्तियां मिलाकर भी ले सकते हैं।

ताजा नींबू और गर्म पानी का घोल:

एक ग्लास में गर्म पानी लें और नींबू का रस मिला कर पीएं। इससे आपको सिर दर्द से राहत पहुंचेगा। कई बार पेट में गैस बनने से भी सिर दर्द होता है। यह घरेलू उपचार इस तरह के सिर दर्द को आसानी से ठीक कर देता है। नींबू पानी पीने से सिद दर्द भी ठीक होता है।

तेल मालिश:

सरदर्द में तेल की मालिश बहुत असरदार होती है। मालिश से सिर की रक्त धमनियों में रक्त प्रवाह सही से होने लगता है और सरदर्द तुरंत कम हो जाता है। ध्यान रहे सिर की मालिश हर्बल तेल से ही करें और सरदर्द होने पर तेल को हल्का गर्म कर लेना चाहिए ताकि यह जल्दी असर करे।

मुलेठी:

मुलेठी सरदर्द में काफी काम करता है। मुलेठी को पीसकर चूर्ण बना लीजिए। इस चूर्ण को नाक के पास ले जाकर सूंघें। इससे सरदर्द कम हो जाएगी।

दालचीनी:

दालचीनी पाउडर का पेस्ट लगाएं सिर दर्द से छुटाकारा पाने का सबसे अच्छा उपचार यह है कि दालचीनी को पीस कर पाउडर बना लें। अब इसे पानी में मिला कर पेस्ट तैयार करें। इस पेस्ट को सिर पर लगाने से आपको तुरंत आराम मिलेगा।

सिरदर्द को रोकने के लिए योग नाम:

Note :- योग और अन्य उपाय डॉक्टर से सलाह के बाद करे|

तो दोस्तों आज की यह पोस्ट केसी लगी कमेन्ट करके जरुर बताना धन्यवाद् |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *