Heart Attack Treatment in Hindi
Heart Attack Treatment in Hindi

Heart Blockage Treatment in Hindi || नसों के ब्लॉकेज खोलने के आयुर्वेदिक उपाय:

हार्ट ब्लॉकेज में मनुष्य की धड़कन सुचारू रूप से काम करना बंद कर देती हैं। इस दौरान धड़कन रूक रूक कर चलती है। कुछ लोगों मे यह समस्या जन्म के साथ से ही शुरू हो जाती है जबकि कुछ लोगों में बड़े होने पर समस्या विकसित होती है। जन्मजात ब्लॉकेज की समस्या को कोनगेनिटल हार्ट ब्लॉकेज जबकि बाद में हुई समस्या को एक्वायर्ड हार्ट ब्लॉकेज कहते हैं।

हार्ट मशल और इसके इलेक्ट्रिकल सिस्‍टम के कारण एक्‍वीरेड हार्ट ब्‍लॉक की प्रॉब्‍लम होती है। इसका उपचार बाइपास सर्जरी, एंजियोप्लास्टी अथवा महंगी दवाएं है।

हार्ट में ब्लॉकेज या रूकावट प्लॉक के कारण होती है। प्लॉक्स, कोलेस्ट्रॉल, फैट, फाइबर टिश्यू और श्वेत रक्त कणिकाओं का मिश्रण होता है, जो धीरे धीरे नसों की दीवारों पर चिपक जाता है। प्लॉक का जमाव गाढ़ेपन और उसके तोड़े जाने की प्रवृत्ति को लेकर अलग-अलग तरह के होते हैं।

Heart Blockage Symptoms || हार्ट ब्‍लॉकेज के लक्षण:

Heart Blockage Treatment in Hindi

  • सिर में दर्द की शिकायत रहना
  • सीने में दर्द रहना
  • थोड़ा काम करने पर थकान महसूस होना
  • चक्कर आना
  • बेहोश होना
  • छोटी सांस आना

Heart Blockage Treatment || हार्ट ब्लॉकेज का उपचार:

  • थर्ड डिग्री हार्ट ब्‍लॉकेज की समस्‍या होने पर इसे ‘पेसमेकर’ मेडिकल डिवाइस की मदद से ठीक किया जाता है।
  • कभी -कभी इस डिवाइस का इस्‍तेमाल सेकेंड डिग्री हार्ट ब्‍लॉकेज होने पर भी किया जाता है।
  • हृदय को स्वस्थ रखने के लिए शरीर का वजन नियंत्रित रखें।
  • धूम्रपान न करें
  • रोज आधा घंटा पैदल चलें।

हार्ट ब्लॉकेज का घरेलू उपचार:

  • सुबह को लहसुन की एक कली लेने से कोलेस्‍ट्राल कम होता है।
  • खाने में बैंगन का प्रयोग करने से कोलेस्‍ट्राल की मात्रा में कमी आती है।
  • एक कप दूध में लहसुन की तीन से चार कली डालकर उबालें। इस दूध को रोज पीएं।
  • अदरक के सेवन से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होती है।
  • ग्रीन टी को पीने से शरीर की कोशिकाएं और धमनियों में ऊर्जा और रक्त का संचार भली-भांति होता है।
  • खाने में या सलाद में अलसी के बीजों का इस्तेमाल करें।
  • एक गिलास दूध में हल्दी डालकर उबालें और गुनगुना रहने पर शहद डालकर पीएं।
  • घी, मक्खन, मलाईदार दूध और तली हुई चीजों के सेवन से परहेज करें।
  • आंवला में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है।
  • इसके सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल घटता है और एंटी-ऑक्सीडेंट की मात्रा बढ़ती है
  • जिससे दिल सम्बंधी रोग दूर हो जाते हैं।
  • हल्दी वाकई में चमत्कारी हर्ब है। इसमें दिल को दुरूस्त बनाएं रखने के भी बहुत सारे गुण होते हैं।
  • इसके सेवन से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होता है।

तो दोस्तों आज की यह पोस्ट केसी लगी कमेन्ट करके जरुर बताना धन्यवाद्।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here