Height Badhane ke Liye Yoga || हाइट बढ़ाने के 10 योग आसन

By | May 20, 2018

Height Badhane ke Liye Yoga || हाइट बढ़ाने के 10 योग आसन:

ऐसा माना जाता है की लम्बाई genetics के अनुसार बढ़ती है, लेकिन ऐसा देखने में आया है की बहुत से लोगों के माता पिता की लम्बाई कम थी और उनके बच्चों की उनसे कई ज्यादा. तो यह तथ्य हमें आश्चर्य में डालता है और यह साबित करता है की लम्बाई/कद न बढ़ने का कारण सिर्फ Genetics Factor ही नहीं होते है

व्यक्तित्व को निखारने में लंबाई की अहम भूमिका होती है। अक्सर कम लंबाई वाले लोग काफी शर्मिंदगी महसूस करते हैं। आमतौर पर बच्‍चे अपनी किशोरावस्‍था अवधि के अंतिम चरण तक अपनी अधिकतम ऊंचाई तक पहुंच जाते हैं। यूं तो लंबाई का कम होना विभिन्न आनुवांशिक और पर्यावरणीय कारकों पर निर्भर करता है। लेकिन योग के अभ्यास से किशोरावस्था के बाद भी कुछ इंच तक लंबाई हासिल करना संभव है।

जानें सही लंबाई :

किसी आयु में बच्चे की औसत लंबाई को जानने के लिए आयु को 6 से गुणा कर 77 सेंटीमीटर से जोड़ें। यदि किसी बच्चे की लंबाई इससे कम हो या एक वर्ष में 6 सेंटीमीटर से कम बढ़ रही है तो यह चिंता का विषय है।

कब तक बढ़ती है हाइट:

ऐसा पाया गया है की बच्चों की लंबाई 20 वर्ष तक बढ़ती है। लड़कियों में मासिक धर्म आरंभ होने के बाद लंबाई कम बढ़ती है। इस आयु के बाद लंबाई के बढ़ने की रफ्तार बेहद कम हो जाती है।

कद नही बड़ने के कारण:

  • अनुवांशिक
  • आहार और पोषण
  • हैवी वेटलिफ्टिंग

कद बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय:

  • पोषक तत्वों से युक्त खान-पान भी व्यक्ति की लंबाई बढ़ाने में सहायक होता है।
  • शरीर के अच्छे विकास के लिए भरपूर नींद भी बेहद जरूरी है।
  • शरीर को खींचने वाले व्यायाम करने से प्राकृतिक रूप से लंबाई बढ़ने लगती है।
  • दूध में उच्च मात्रा में कैल्शियम, विटामिन ए और प्रोटीन होता है जो लंबाई बढ़ाने में सहायक होता है।

कद बढ़ाने में मददगार दस योगासन:

योग शरीर के सभी हिस्‍सों को ऊर्जा प्रदान कर शरीर के तनाव को कम करता है और कद को बढ़ता है। साथ ही योग आपकी शरीर मुद्रा को सही कर लंबाई को परोक्ष रूप से प्रभावित करता है।

Sukhasana benefits in hindi

Note:- आप को जिस भी योगासन के बारे में जाना है उस पर शब्द पर क्लिक करना

तो दोस्तों आज की यह पोस्ट केसी लगी कमेन्ट करके जरुर बताना धन्यवाद् |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *