Insomnia Treatment in Hindi || अनिद्रा रोग का उपचार

By | May 22, 2018

Insomnia Treatment in Hindi || अनिद्रा रोग का उपचार:

नींद ऐसी चीज है जो किसी को पत्थर पर सोने से ही आ जाती है और किसी को मखमली बिस्तर पर भी नहीं आती। नींद नहीं आना, अनिद्रा के कई कारण हो सकते हैं। सुबह बिस्तर से उठने के बाद यदि फ्रेश व तरोताजा महसूस नहीं करते हो। दिन भर थकान, उनींदापन और चिड़चिड़ाहट रहती हो। रात को सोने के लिए लेटने पर नींद नहीं आती हो। थके हुए होने के बावजूद सो नहीं पाते हों।

हर उम्र में शरीर की नींद की अवधि की जरूरत बदलती है। नवजात शिशु 18 घंटे तक सोते हैं तो वयस्कों को औसतन आठ घंटे की नींद की जरूरत होती है। पर्याप्त नींद के अभाव का सीधा असर हमारे शरीर की चयापचय प्रक्रिया पर पड़ता है और इससे मधुमेह, वज़न का बढ़ना, उच्च रक्त चाप जैसी बीमारियां हो सकती हैं।Insomnia Treatment in Hindi

Insomnia Causes || अनिद्रा के कारण:

  • आप भावनात्मक समस्याओं से जूझ रहे हों।
  • पेट में गड़बड़ी, क़ब्ज़, अनियमित खानपान की वजह से।
  • मुख्य कारण मानसिक परेशानी होती है।
  • अपरिचित या नया वातावरण के कारण।
  • शोर-शराबे वाली जीवन शैली में रहना।
  • अनियमित दिनचर्या होना।
  • कम शारीरिक व्यायाम व कम मेहनत करना।
  • ज्यादा शराब सेवन करने से भी नींद नहीं आती है।
  • आपको रोजगार सम्बन्धित परेशानियां हों।
  • एलर्जी, अस्थमा या लगातार जुकाम आदि।
  • आप बार- बार एक ही समस्या के बारे मे सोचते हों।

Insomnia Treatment || अनिद्रा का उपचार:

  • सोते समय अच्छी और सकारात्मक बातें सोचें।
  • सोने से एक घंटा पहले कमरे की लाइट को कम कर लें।
  • रात में सोने से पहले दूध पिएं जिससे अच्छी नींद आएगी।
  • चाय-कॉफी की मात्रा को कम करें
  • समय पर सोने और जागने की आदत डालें।
  • अकेलेपन से दूर रहें।

अनिद्रा के घरेलू उपचार:

  • सरसों के तेल:-रात को सोते समय एक रुई के टुकड़े को सरसों के तेल में भिगोकर नाभि पर रख लें
  • और उस पर हल्की पट्टी लगा दें। इसे लगा कर सो जाएँ  . इससे गहरी नींद आती है।
  • हॉप्स:- यह एक प्रकार का जंगली पौधा है।
  • जिसके फल का उपयोग शराब (बीयर) बनाने के काम में आता है।
  • अनिदा, टेंशन और डिप्रेथन के मरीजों को इसके फल का रस पिलाई जाती है।
  • ताकि उन्हें आराम की नींद आ सके।
  • 1 गिलास हरी एलाईची वाले गर्म दूध का सेवन सोने से पहले अत्यंत सहायक है।
  • 1 चम्मच मुलेठी का पाउडर 1 गिलास दूध के साथ प्रातः काल सेवन करना चाहिए।
  • कटे हुए केले पर पीसा हुआ ज़ीरा डाल कर प्रति रात्रि शयन से पूर्व खाना भी नींद लाने में सहायक है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *