Jaundice in Hindi

Jaundice in Hindi || पीलिया के लक्षण, कारण और उपचार:

पीलिया एक ऐसा रोग है जो एक विशेष प्रकार के वायरस और किसी कारणवश शरीर में पित्त यानि रक्त में बिलीरुबिन की मात्रा बढ़ जाने से होता है। इसमें मरीज को पीला पेशाब होता है। उसके नाखून, त्वचा और आंखों का सफेद भाग पीला पड़ जाता है।

पीलिया साधारण बीमारी लग सकती है, मगर इसका सही समय पर इलाज ना हो तो ये बहुत भयंकर परिणाम देती है। ये लीवर से संबंपधित रोग है और इसमें मरीज की जान तक जा सकती है। नवजात शिशुओं में ये समस्या ज्यातर देखी जाती है लेकिन वयस्क भी इसके शिकार होते हैं। Jaundice in Hindi

Jaundice Symptoms || पीलिया के लक्षण:

  • वजन घटना।
  • जी मचलाना।
  • त्वचा चिपचिपी होना।
  • पूरा शरीर पिले रंग का दिखाई देने लगता हैं।
  • आंख के सफेद भाग का पीला हो जाना।
  • मरीज को ठंड लगती है।
  • बुखार आता है।
  • हाथों में खुजली चलना
  • उल्टियां भी आने लगती हैं।
  • पित्त के कारण मल का रंग फीका या सफेद हो जाना।
  • पेशाब हलके गहरे रंग की आने लगती हैं।

Jaundice Causes || पीलिया के कारण:

  • इंफेक्शन
  • लिवर में कमज़ोरी
  • शरीर में ब्लड की कमी
  • किसी बीमार व्यक्ति का झूठा खाना व पिने से

करें ये घरेलू उपाय:

  • ताजा मूली के हरे पत्ते पीस कर रस निकाले और इसे छान कर पी जाएं।
  • इससे मरीज के जिगर की कमजोरी दूर होती है।
  • ताजा व शुद्व गर्म भोजन करें दूध व पानी उबाल कर काम में लें।
  • गन्ना, पाचन क्रिया को दुरूस्त करता है।
  • साथ ही लीवर को भी बेहतर तरीके से कार्य करने में मदद करता है।
  •  गाजर का ताजा रस निकालकर पीएं, पीलिया में राहत मिलेगी।
  • बेल की पत्ती को पीसकर पाउडर बना लें।
  • इस पाउडर को पानी में मिलाकर रोजाना पीएं। पीलिया के उपचार के लिए बेहद प्रभावी उपाय है।
  • आंवला विटामिन सी से भरपूर होता है। पीलिया रोग में आंवले का सेवन करने से बेहद लाभ होता है।
  • पके हुए केले को कुचलकर, उसमें शहद मिलायें। इस तरह के केले को दिन में दो बार खाएं।
  • दही को मथकर छाछ तैयार करें और इसमें काली मिर्च और भुना जीरा मिलाकर पीएं।
  • पपीता खाने से एंजाइम एल्बुमिन का स्तर संतुलित रहता है।
  • धनिया बीज – को रात में भिगोने रख दे सुबह उन बीजों को खाएं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here