Joint Pain In Hindi || जोड़ों में दर्द के कारण और उपाय

By | May 23, 2018

Joint Pain In Hindi || जोड़ों में दर्द के कारण और उपाय:

शरीर के ऐसे हिस्से जहां हड्डियां मिलती हों, जोड़ कहलाते हैं, जैसे  कंधे, घुटने, कोहनी आदि। इन्हीं जोड़ों में कठोरता, सूजन, किसी तरह की तकलीफ जो दर्द का कारण बने, जोड़ों में दर्द कहलाती है।

उम्र बढ़ने के साथ-साथ अक्‍सर जोड़ों की शिकायत होने लगती है। जोड़ों का दर्द जिसे मेडिकल की भाषा में आर्थराइटिस भी कहा जाता है, वह बीमारी होती है जिसमे दो हड्डियों के जोड़ पर दर्द होता है। जोड़ों में दर्द होना आर्थराइटिस के प्रारम्भिक लक्षण होते हैं।

जोड़ का दर्द पैरों के घुटनों, गुहनियों, गदर्न, बाजुओं और कूल्‍हों में हो सकता है। व्‍यायाम के अलावा आपका खान-पान पौष्टिक और हेल्‍दी होना चाहिये, जो जोड़ के दर्द को कम कर के तुरंत आराम दिलाए। joint pain ka ilaj in hindi

Joint Pain Causes || जोड़ों में दर्द के कारण:

  • जोड़ों में इंफेक्शन होना।
  • हड्डियों का टूटना।
  • हड्डियों में रक्त की आपूर्ति में बाधा आना।
  • कार्टिलेज का फटना।
  • हड्डियों में गांठ की शिकायत होना।
  • उम्र बड़ने के साथ जोड़ों पर बहुत ज्यादा दबाव पड़ना।

जोड़ों के दर्द के लिए घरेलू उपचार:

तेल मालिश:

दर्द वाली जगह पर गहराई से की गयी तेल की मालिश भी दर्द से छुटकारा पाने में एक असरदार तरीका है। जोड़ों के दर्द का तेल, किसी अच्छे तेल से लगातार 20 मिनिट तक की गयी मालिश ऊतकों में रक्तसंचार को बढ़ा देता है और दर्द और सूजन को दूर करता है।

हल्दी:

हल्दी में एंटी इंफ्लेमेंटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण के साथ करक्यूमिन नामक एक सक्रिय घटक पाया जाता है। 2009 में अल्टरनेटिव एंड कॉम्प्लिमेंटरी मेडिसिन में प्रकाशित शोध के अनुसार हल्‍दी में पाया जाना वाला तत्‍व करक्‍यूमिन घुटने के ऑस्टियोआर्थराइटिस के दर्द में ब्रूफेन की तरह प्रभावी होता है। इसके लिए एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी और थोड़ा सा शहद डाल के कुछ दिनों तक लें।

लहसुन:

लहसुन का इस्तेमाल बेहद अच्छे परिणाम दे सकता है। इसके औषधीय गुण गर्दन के दर्द, सूजन और जलन को ठीक करते हैं। लहसुन की दो कली हर सुबह खाली पेट पानी के साथ खाएं। खाना बनाने वाले किसी भी तेल में लहसुन की कुछ कलियां डाल कर भून लें। इस तेल को गुनगुना होने तक ठंडा करें और प्रभावित हिस्से की मालिश करें। इस विधि को दिन में दो बार किया जा सकता है।

लाल मिर्च:

लाल मिर्च में प्राकृतिक दर्दनिवारक या दर्द से राहत देने वाले गुणों वाला कैप्‍सेसिन नामक यौगिक होता है। लगभग 0.0125 प्रतिशत कैप्‍सेसिन से युक्त जेल को घुटने पर लगाने से ऑस्टियोआर्थराइटिस से पीड़ि‍त महिलाओं को काफी राहत मिलती है। इसके लिए डेढ़ कप नारियल तेल को हल्का गर्म करें और उसमें 2 चम्मच लाल मिर्च पाउडर मिला लें। फिर इस मिश्रण को दर्द वाली जगह पर लगाएं। 20 मिनट बाद इसे धो लें।

जोड़ों को शक्तिशाली बनाने के लिए निम्न योगासन:

यह योग करने से पहले योग के नुकसान और फायदे सारे जरुर जाने धन्यवाद् ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *