Kidney Stone in Hindi1

Kidney Stone in Hindi || गुर्दे की पथरी इलाज:

गुर्दे की पथरी की समस्या आजकल तेजी से पनपने लगी है। हर एक हजार व्यक्ति में पचास व्यक्ति औसतन पथरी की समस्या है। पथरी 20 से 50 वर्ष की आयु के मध्य हो जाती है।

पेट के निचले हिस्से में या मुत्राशय में तेज दर्द पथरी की निशानी हो सकती है। यह एक ऐसी समस्या है जो किसी भी इंसान को हो सकती है। गुर्दे की पथरी में जो दर्द होता है वह बेहद असहनीय हो जाता है।Kidney Stone in Hindi1

Kidney Stone Symptoms || गुर्दे की पथरी के लक्षण:

  • अचानक गंभीर दर्द दे सकता है।
  • पेशाब में जलन
  • पेशाब में बदबू
  • भूख न लगना
  • पेशाब करने समय तेज पीड़ा होना
  • दर्द के साथ जी मिचलाने तथा उल्टी होने की शिकायत भी हो सकती है
  • यह दर्द रह-रह कर उठता है और कुछ मिनटो से कई घंटो तक बना रहता है
  • लाल, गुलाबी, या भूरे रंग के मूत्र

Kidney Stone Causes || गुर्दे की पथरी के कारण:

  • मूत्र मार्ग में कोई संक्रमण होना
  • हर दिन पानी की पर्याप्त मात्रा का सेवन न करना
  • शराब का अधिक उपयोग करना

किडनी में पथरी के लिए घरेलू उपचार:

आंवला:

आंवला सिर्फ केश कांति बढ़ाने में ही काम नहीं आता है। इसके कई औषधीय गुण भी हैं। किडनी के पथरी को गलाने में यह काफी कारगर है। आंवले का चूर्ण मूली के साथ खाने से पथरी गल जाती है।

सेब का सिरका:

सेब का 4 चम्मच सिरका को 4 चम्मच पानी में गर्म कर साफ सूती कपड़े में भिगो कर पथरी वाली जगह पर सेकन करें। इससे पथरी दर्द में तुरन्त आराम मिलता है।

जामुन:

जामुन डाइबिटीज समेत कई बीमारियों में रामबाण का काम करता है। पथरी के इलाज में भी यह काफी असरदार है।

पानी:

पथरी होने पर खूब पानी पीये, प्यास न लगने पर भी पानी पीये, पानी स्टोन को मूत्र के रास्ते बाहर निकालने में सहायक है। और लगातार पानी ठीक पीने से पथरी की दुबारा होने की सम्भावनाऐं ना के बराबर रहती है।

प्याज का रस:

दो प्याज को छील कर टुक्कड़े कर हल्की आंच में 10 मिनट का उबालें, बाद में ठंड़ा होने पर पानी को दिन में 3 बार छान कर सेवन करने से पथरी बाहर निकलने में सक्षम है। प्याज में औषधीय गुण पाये जाते हैं, जोकि पथरी मरीज के लिए दवा का काम करती है।

नारियल पानी:

किडनी के सेहत के लिए नारियल काफी फायदेमंद है। नारियल पानी पथरी को गलाता है। पथरी होने पर नारियल पानी सुबह पीना चाहिए।

कुर्थी दाल:

पथरी को गलाने में कुर्थी दाल काफी असरदार होता है। कुर्थी दाल को पका कर भी खा सकते हैं, लेकिन कुर्थी दाल का पानी पीना सबसे कारगर होता है।

करेला और मूली:

करेला जूस और मूली सलाद किड़नी स्टोन में आॅक्जेलेट क्रिस्टल बनने से रोकती हैं। करेला और मूली में मेग्रीशियम, फाॅस्फोरस भरपूर मात्रा में मौजूद है। करेला जूस और सलाद सेवन के 1 घण्टे बाद केला खायें। करेला, मूली सलाद, केला किड़नी स्टोन घटाने में सहायक हैं।

तो दोस्तों आज की यह केसी लगी कमेन्ट करके जरुर बताना धन्यवाद्।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here