Lion Pose || सिंहासन योग:

सिंहासन करते समय शरीर का आकार सिंह यानि की लायन  के समान होने के कारण इसे सिंहासन या Lion Pose कहा जाता हैं। सिंहासन योग के इतने लाभ है की इसे सर्व रोगहर आसन भी कहा जाता हैं।

lion pose benefits in hindi

सिंहासन योग करने के विधी:

  • इसे करने के लिए सबसे पहले समतल जगह पर योगा मेट बिछा ले।
  • इसके बाद वज्रासन की मुद्रा में बैठ जाए।
  • दोनों घुटने को जितना हो सके उतनी दुरी पर रखे।
  • अब दोनों हांथो को घुटने के बीच में रखे, हांथो की उंगलिया आपके शरीर के तरफ होनी चाहिए।
  • दोनों हांथो को सीधा रखते हुए आगे की तरफ झुके।
  • हाथों को भी जमीन पर रखें।
  • मुंह खुला रखे और जितना सम्भव हो सके जीभ को बाहर निकालिये।
  • आंखों को पूरी तरह खोलकर आसमान में देखिये।
  • नाक से श्वास लीजिये।
  • सांस को धीरे-धीरे छोड़ते हुए गले से स्पष्ट और स्थिर आवाज निकालिये।
  • यह सिंहासन है।

सिंहासन योग करने के लाभ:

  • इसके अभ्यास से आप अपने आंखों को स्वस्थ रख सकते हैं। इससे आंखों की नसों की कमजोरी दूर होती है।
  • यह रक्तक संचार को सुधारता है। इससे शरीर में ऑक्सीजन व चेहरे में रक्त का संचार सही ढंग से होता है।
  • सिंहासन से आपको अस्थमा में आराम मिलता है।
  • गले, नाक, कान और मुंह की बीमारियों को दूर करने के लिये यह एक श्रेष्ठ आसन है।
  • जो बच्चे हकलाकर बोलते है उनके लिए यह योग रामबाण की तरह काम करता है|
  • सिंहासन योग को नियमित रूप से करने से आपकी वाणी मधुर और स्पष्ट होती है।
  • चेहरे पर निखार आता है एवं चेहरे की त्वचा चमकदार बनती है |
  • वज्रासन से होने वाले सभी लाभ इस आसन को करने से मिल जाते है |

सावधानियां:

  • गले के गंभीर विकारों में योग्य योग गुरु की देख – रेख में ही करे |
  • गठिया रोग एवं जोड़ों के दर्द में योग गुरु का परामर्श आवश्यक है |

हेल्लो दोस्तों आज की यह पोस्ट केसी लगी कमेंट्स करके जरुर बताना और अच्छी लगी हो तो शेयर जरुर करना | धन्यवाद |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here