Low Blood Pressure in hindi || निम्न रक्तचाप या लो ब्लड प्रेशर

By | May 23, 2018

Low Blood Pressure in hindi || निम्न रक्तचाप या लो ब्लड प्रेशर:

लो ब्लडप्रेशर या निम्न रक्तचाप, ऑक्सीजन को दिमाग तक जाने से रोकता है। केवल ऑक्सीजन ही नही बल्कि अन्य पोषक तत्व भी दिमाग तक नहीं पहुंच पाते। ब्लडप्रेशर को स्वास्थ्य की भाषा में हाइपोटेंशन के नाम से जानते हैं।

लो ब्लड प्रेशर की स्थिति वह होती है कि जिसमें रक्तवाहिनियों में खून का दबाव काफी कम हो जाता है। सामान्य रूप से 90/60 एमएम एचजी को लो ब्लड प्रेशर की स्थिति माना जाता है।

चिकित्सों का मानना ​​है कि निम्न-रक्तचाप वास्तव में हानिकारक नहीं है, जब तक कि इससे चक्कर आना, बेहोशी और सदमे जैसे प्रभाव पैदा न हों। हाइपोटेंशन के कुछ अन्य लक्षणों में सिर दर्द, सीने में दर्द, दौरे-पडना, लंबे समय तक रहने वाले दस्त और वमन (उल्टी) शामिल हैं।Low Blood Pressure in hindi

लो ब्लडप्रेशर के लक्षण ||Low Blood Pressure Symptoms:

  • छाती में दर्द, सांस फूलना
  • हाथों और पैरों का ठंडा होना
  • सिर दर्द होना
  • सीने में दर्द होना
  • दौरे-पडना
  • लंबे समय तक रहने वाले दस्त और वमन (उल्टी)

लो ब्लडप्रेशर के कारण || Low Blood Pressure Causes:

  • कई बार शरीर में रक्त की कमी, निम्न रक्तचाप का कारण बनती है।
  • किसी बड़ी चोट या अंदरूनी रक्तस्राव के कारण शरीर में अचानक खून की कमी हो जाती है।
  • हृदय से जुड़ी किसी भी प्रकार की समस्या होने पर रक्तचाप निम्न हो सकता है।
  • जरूरी पोषक तत्वों की कमी होने पर शरीर पर्याप्त मात्रा में लाल रक्त कोशिकाएं नहीं बना पाती है।
  • जिससे रक्तचाप निम्न हो जाता है।
  • दिल की बीमारी से हार्ट की मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं।
  • जिससे हार्ट पर्याप्त खून को पम्प नहीं कर पाता और हमारा बीपी लो रहने लगता है।
  • गर्भावस्था, हार्मोन असंतुलन जैसे कि थायरॉइड की सक्रियता कम हो जाना।

उपचार:

  • पानी अधिक पीना चाहिए।
  • प्रतिदिन चुकंदर का रस पिए।
  • फल, सब्जी ओर पोष्टिक खाद्य पदार्थो का सेवन करे।
  • गाजर, मूली, खीरा, ककड़ी को भी खाने के साथ ले।
  • हरी सब्जियो का सूप बना कर पिए।
  • दिन में करीब तीन से चार बार जूस का सेवन करना फायदेमंद रहेगा।

नमक का पानी:

नमक का पानी पीना। सामान्य पानी लें और उसमें थोड़ा नमक मिला लें, ध्यान रहे यह नमक उतना ही हो जितना आप पी सकें। नमक में मौजूद सोडियम ब्लड प्रेशर को बढ़ाने में आपकी मदद करेगा।

तुलसी:

तुलसी में विटामिन सी, पोटैशियम और मैग्नीशियम होता है जो दुमाग को संतुलित कर तनाव को दूर करते हैं। तो यदि ब्लड प्रेशर कम लगे तो चाय में या फिर जूस में तुलसी की कुछ पत्तियां डालकर पी जाएं।

कैफीन:

नमक के अलावा ब्लड प्रेशर कम होने पर तुरंत कैफीन का सेवन करें, ये कॉफी में सबसे अधिक मात्रा में होता है। इसलिए तुरंत गर्माग्रम कॉफी का सेवन करें, लेकिन कॉफी अकेले ना पीयें।

तो दोस्तों आज की यह पोस्ट केसी लगी कमेन्ट करके जरुर बताना धन्यवाद् ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *