Migraine Home Remedy in Hindi || माइग्रेन के लक्षण एवं उपचार

By | May 24, 2018

Migraine Home Remedy in Hindi || माइग्रेन के लक्षण एवं उपचार:

माइग्रेन सर में होने वाले सबसे तेज दर्दों में से एक है। इसकी वजह से सर और कान के पीछे के हिस्से में असहनीय दर्द का अनुभव होता है।माइग्रेन एक प्रकार का न्यूरोवेस्कुलर विकार है जिसमें सिर में रूक-रूक कर दर्द होता है।

भागदौड़ भरी जिंदगी में बढ़ते तनाव के चलते माइग्रेन होना बहुत ही आम समस्या हो गई है। माइग्रेन को दूर करने के लिए लोग कई तरह के हथकंडे अपनाते हैं। लेकिन बावजूद इसके इस समस्या से छुटकारा नहीं मिल पाता है।

माइग्रेन में आमतौर पर रोगी के सिर के आधे हिस्सेक में तेज दर्द होता है। इसे हम आधकपारी भी कहते हैं। कभी-कभी दर्द इतना तेज होता है कि रोगी को उल्टी तक हो जाती है। आमतौर पर देखा गया है कि जिन लोगों को माइग्रेन होता है, उन्हें साइनोसाइटिस की दिक्करत भी होती है। विशेषज्ञ बताते हैं कि माइग्रेन टेंशन की वजह से होता है।

माइग्रेन के सामान्य लक्षण: सरदर्द के साथ मितली, उल्टी आना |सिर में एक साइड ही दर्द शुरू होता है। सिर में दर्द इतना ज्‍यादा बढ़ जाता है कि गर्दन भी दुखने लगती है।Migraine Home Remedy in Hindi

माइग्रेन होने के 5 कारण:

  1. ज्यादा तेज धूप या ठंडी हवा में भी माइग्रेन का दर्द उठता है।
  2. एक दिन में नौ – दस घंटे से ज्यादा नींद लेने पर भी माइग्रेन की समस्या हो सकती है।
  3. तनाव के कारण माइग्रेन का दर्द सबसे ज्यादा होता है।
  4. जो लोग कैफीन की ज्यादा मात्रा लेते है उन्हें भी माइग्रेन की समस्या हो सकती है।
  5. खाली पेट रहने के कारण गैस की समस्या और सिर में दर्द होने लगता है।

माइग्रेन के लिए घरेलू उपचार:

तुलसी का तेल:

तुलसी माइग्रेन में भी बेहद प्रभावी है। तुलसी का तेल का इस्तेमाल माइग्रेन के दर्द में काफी आराम देता है। तुलसी का तेल मांसपेशियों को आराम देता है जिससे सिर का तनाव कम होता है और दर्द से राहत मिलती है।

ठंडे पानी से मालिश

एक तौलिए को ठंडे पानी में भिगोकर गर्दन और कंधों की मालिश करें। इसके अलावा आप बर्फ के टुकड़ो से मालिश भी कर सकते है। ऐसा करने से आपको तुंरत दर्द से आराम मिल जाएगा। आप चाहे तो पानी में नारियल का तेल भी मिला सकते हैं।

अदरक:

अदरक में मौजूद एंटी फ्लेमेबल गुण पेरशानी पैदा करने वाले लक्षणों को रोकते हैं। अदरक के छोटे से टुकड़े को धोकर, छीलकर उसे पानी में उबालकर, ठंडज्ञ कर लें। इस पानी में शहद और नींबू की कुछ बूंदें मिलाकर पीने से बेहद लाभ मिलता है।

सेब:

अगर आप माइग्रेन का दर्द होने के समय सेब का सेवन कर लें तो इससे आपको माइग्रेन के दर्द से तुरंत छुटकारा प्राप्त हो जाता है। एक हरे सेब को सूंघने जैसी आसान प्रक्रिया का पालन करने से भी माइग्रेन का दर्द कम होता है और इसकी गंभीरता में भी काफी कमी आती है।

देसी घी:

देसी घी की मालिश भी सिर में दर्द या माइग्रेन में बहुत आरामदायक साबित होती है। माइग्रेन में अगर आप रोजाना गाय के देसी घी की दो बूंदे नाक में डालेंगे तो आपको जल्दी आराम मिलेगा। महज 1 हफ्ते तक भी ऐसा करने से आपका माइग्रेन दूर हो जाएगा।

योगासन माइग्रेन को दूर करने के लिए:

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *