पद्मासन योग क्या है –

पद्मासन संस्कृत शब्द पद्म से निकला है जिसका का अर्थ होता है कमल। पद्मासन बैठ कर किया जाने वाला एक ऐसी योगाभ्यास है जिसके बारे में शास्त्रों में कहा गया है कि यह आसन अकेले शारीरिक, मानसिक एवं आध्यात्मिक रूप से आपको सुख एवं शांति देने में सक्षम है। इस आसन में शारीरिक गति विधियां बहुत कम हो जाती है

Padmasana || पदमासन योग- HealthPlusHindi

पद्मासन करने की प्रक्रिया :

जमीन पर बैठकर बाएँ पैर की एड़ी को दाईं जंघा पर इस प्रकार रखते हैं कि एड़ी नाभि के पास आ जाएँ। इसके बाद दाएँ पाँव को उठाकर बाईं जंघा पर इस प्रकार रखें कि दोनों एड़ियाँ नाभि के पास आपस में मिल जाएँ। ध्यान रहे कि दोनों घुटने जमीन से उठने न पाएँ। तत्पश्चात दोनों हाथों की हथेलियों को गोद में रखते हुए स्थिर रहें। इसको पुनः पाँव बदलकर भी करना चाहिए। फिर दृष्टि को नासाग्रभाग पर स्थिर करके शांत बैठ जाएँ।

पद्मासन करने के लाभ:

  • आपके तनाव को कम करने का सबसे सरल उपाय है ये आसन।
  •  इस आसन को नियमित करने से जाघों की और पेट की चर्बी कम होती है।
  • पद्मासन मेडिटेशन  का एक कारगर तरीका है।
  • वीर्य वृद्धि होती है। सन्धिवात ठीक होता है।
  • यह आसन दिमाग को शांत और मन को भटकने से रोकता है।
  • स्मरण शक्ति एवं विचार शक्ति बढ़ती है।
  • इस आसन से आपका ध्यान और ज्यादा केंद्रित होता है।
  • इस आसन से ब्लड प्रेशर  नियंत्रण में रहता है

हेल्लो दोस्तों आज की यह पोस्ट केसी लगी कमेन्ट करके जरुर बताना और अच्छी लगी हो तो शेयर जरुर करना धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here