Stress Management In Hindi || तनाव स्ट्रैस का उपचार

By | June 1, 2018

Stress Management In Hindi || तनाव स्ट्रैस का उपचार:

जीवन में हमेशा तनाव में रहना काफी हानिकारक होता है। तनाव हमारी प्राकृतिक ऊर्जा को समाप्त करता है और एक तरह की मानसिक बीमारी को बढ़ावा देता है जो हम पर काफी खतरनाक तरीके से हावी हो जाती है।

जो मानसिक स्थिति और परिस्थिति के बीच असंतुलन के कारण उत्‍पन्‍न होता है। तनाव मन में चलने वाला ऐसा द्वंद्व है, जो मन एवं भावनाओं में गहरी दरार पैदा करता है। तनाव अन्य अनेक मनोविकारों की जन्‍मभूमि भी है। इससे मन में अशांत‍‍ि, अस्थिर भावना का अनुभव होता है।Stress Management In Hindi

Stress Symptoms || तनाव- स्ट्रैस के लक्षण:

तनाव से बचाव के लिए घरेलू नुस्खे:

  • एक गिलास दूध शरीर को भरपूर एंटीऑक्सीडेंट और जरूरी पोषक तत्व देता है।
  • जब आप पूरी तरह से चिंता से ग्रस्त हो तब शांत ही रहने की कोशिश करे।
  • बादाम में विटामिन बी, ई, मैग्नीशियम, जिंक, सेलेनियम तथा अन्य स्वास्थ्य वर्धक वसा पाई जाती है।
  • एक कप पालक रोजाना खाने से शरीर और दिमाग दोनों को राहत मिलती है।
  • पालक का सूप बनाकर, सब्जी, सलाद या ऑमलेट आदि में डालकर खाया जा सकता है।
  • तनाव होने पर कुछ समय के लिए आंखे बंद कर लें और प्रणायाम करने की कोशिश करें।
  • अपनी नींद पूरी करें क्योंकि कई बार नींद पूरी न होने से भी चिड़चिड़ा पन होता है।
  • ग्रीन टी में मौजूद थियानीन सतर्कता और ध्यान बढ़ाता है।
  • अपनी सोच को सकारात्ममक रखें और सकारात्म‍क बातें करें यानी आशावादी बनें।
  • अपने शौक को समय दें और सोचे क्या करने पर आपको मज़ा आता है
  • हमेशा ऐसी बात ही सोचें जो आपको अच्छी लगे।
  • त्याग करना सीखें। त्याग से ही आत्मसंतुष्टि प्राप्त होती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *