Vitamin C के फायदे और स्रोत-Healthplushindi

By | April 5, 2018

Vitamin C के फायदे और स्रोत-Healthplushindi

हमारे शरीर में कई प्रकार के Vitamin पाए जाते है और सबका अपने अपने स्थान पर बहुत ज़रूरी कम होता है|Vitamin हमारे को बाहरी और भीतरी दोना प्रकार की बीमारियों से बचाता है| तो अब आपको पता चल ही गया है Vitamin C हमारे शरीर में सबसे महत्वपूर्ण Vitamin है| यदि हमको Vitamin C की कमी हो जाती अहि तो हमारे शरीर को विभिन्न प्रकार की बीमारियों का सामना करना पड़ता है| जिसको दूर करने के लिए हमें Vitamin C को ग्रहण करना पड़ता है| Vitamin C को स्टेटर Vitamin भी कहता है |यदि हम Vitamin C का लगतार सेवन करे तो हमें कई बीमारियों से छुटकारा पा सकते है|

Vitamin C के कार्य:

यह आपके शरीर के सबसे छोटे इकाई या सेल को बांध के रखता है। इससे शरीर के विभिन्न अंग को आकार बनाने में मदद मिलती है। यह शरीर के बल्ड वेस्सल या खून की  नसों रक्त वाहिकाओं को मजबूत बनाता है। इसके एंटीहिस्टामीन गुणवत्ता के कारण, यह सामान्य सर्दी-जुकाम में भी दवा का काम कर सकता है।

Vitamin C के स्रोत:

आंवला, नारंगी, नींबू, अंगूर, अमरूद, केला, बेर, कटहल, शलगम, पुदीना, मूली के पत्ते, मुनक्का, दूध, चुकंदर, चौलाई, बंदगोभी, हरा धनिया, और पालक इत्यादि विटामिन सी के स्रोत है |

Vitamin C से होने वाले लाभ:

  1. यह Vitamin शरीर में रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढाने का कार्य करता है | शरीर में संक्रमण की अवस्था में जैसे T.B. , सर्दी, जुकाम, निमोनिया, मलेरिया और डिप्थेरिया आदि रोगों में शारीरिक कोषों और तंतुओ को टूटने से बचाता है | एंटी ओक्सिडेंट गुणों से युक्त होने के कारण शरीर को रोग-प्रतिरोधक क्षमता प्रदान करता है |
  2. Vitamin C शरीर में को-एंजाइम की तरह कार्य करता है | अर्थात यह शरीर में चयापचयी क्रियाओं को संपन्न करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है | इसके अलावा Vitamin C कई हाइड्रोक्सीलेसन क्रियाओं को भी संपन्न करने में महत्वपूर्ण तत्व होता है | नियमित रूप से Vitamin C से समर्द्ध आहार का सेवन करते रहने से शरीर में चयापचय की क्रियाएँ आसानी से होती रहती है और शरीर में पाचन क्रिया से सम्बंधित समस्याएँ नहीं होती |
  3. जिन लोगो को उच्चरक्त चाप की शिकायत है। उन्हें अपने आहार में रोज Vitamin C का डोज लेना ही चाहिए| यह नसों और मांसपेसियों को फैला देती है| यहाँ तक की इससे हाइपरटेंशन से होने वाले नुकसान से भी बचा जा सकता है।
  4. इस Vitamin में प्रचुर मात्रा में एंटी ओक्सिडेंट होते है | इसी कारण से यह फ्री रेड़ीकाल्स से बचाता है | शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देता है जल्द ही शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता उत्पन्न कर देता है | जिससे शरीर रोगों से बचा रहता है| यह कोशिकाओं में होने वाले परिवर्तन और डीएनए में होने वाले परिवर्तन से भी शरीर को सुरक्षित रखता है जिस कारण से कैंसर जैसे रोग होने की सम्भावना कम हो जाती है |
  5. Vitamin C के अभाव में मसूड़ों से खून बहता है, दांत दर्द हो सकता है, दांद मसूढ़ों में ढीले हो सकते हैं या निकल सकते हैं इसलिये अपने आहार में विटामिन सी को जरूर शामिल किजिये।

Vitamin C की कमी के कारण:

इस विटामिन की कमी होने के कारण निम्न है | जैसे ताजे फल व सब्जियां आदि का सेवन 6 से 7 महीने के लम्बे अंतराल तक न किया जाए तब निश्चित ही शरीर में इस विटामिन की कमी हो जाती है | शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है और जल्द ही शरीर बिमारियों के चपेट में आ जाता है | इसके अलावा दांतों का कमजोर होना है |

Vitamin C बहुत अधिक खाने से बचे:

इससे शरीर के विभिन्न अंगों में, जैसे कि गुर्दे में, दिल में और अन्य जगह में, एक प्रकार का पथरी हो सकती है| इससे पैशाब में जलन या दर्द हो सकता है, या फिर पेट खराब होने से दस्त हो सकता है।

हेल्लो दोस्तों आज की यह पोस्ट केसी लगी कमेन्ट करके बताओ धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *