Vitamin H बायोटिन -Healthplushindi

By | April 6, 2018

Vitamin – H को बायोटिन भी कहा जाता है | यह सामन्यतय Vitamin  b-complex का ही हिस्सा है जो वसा में घुलनशील है | यह Vitamin शरीर में कार्बोज और वसा के संस्लेषण का कार्य करता है | भ्रूण के उचित विकास और हमारे शरीर के नाखूनों एवं बालों की सेहत के लिए अत्यंत आवश्यक तत्व है |

Vitamin H की कमी के कारण शरीर के प्रभवित अंग:

शरीर में इस विटामिन की कमी नहीं होती लेकिन फिर भी किसी कारणों से अगर कमी हो जाए तो इसके प्रभाव शरीर पर देखने को मिलते है जैसे – बालों का झाड़ना, नाखुनो का टूटना, त्वचा का रंग में परिवर्तन , आँखों में सूखापन, त्वचा पर झुर्रियां पड़ने लगती है तथा चक्कर आने लगते है आदि |

Vitamin H in hindi

Vitamin H in hindi

Vitamin H या बायोटिन के स्रोत:

बायोटिन सभी प्रकार के भोज्य पदार्थों में शामिल होता है |खमीर, यकृत, मूंगफली, सोयाबीन,गेंहू की मींगी , चावल की उपरी परत आदि में यह स्रवाधिक मात्रा में पाया जाता है | सभी प्रकार के दाल , सूखे मेवे, अनाज, मच्छली, मांस, अंडा, तेल्बिज, दूध आदि भोज्य पदार्थो में भी यह प्रचुरता से पाया जाता है |

Vitamin H के  फायदे:

  1. विटामिन H उचित पाचन क्रिया के लिए बढि़या होता है और भोजन को तोड़ने के लिए सह-एंजाइम की तरह कार्य करता है। विटामिन H इस प्रक्रिया में लगने वाले समय को कम करता है और तेजी से भोजन को तोड़ने में मदद करता है।
  2. विटामिन H का सेवन सप्लीमेंट माना जाता है न कि दवाई। यह विटामिन हमारे द्वारा दैनिक आहार में लिए गये ज्यादातर पोषक खाद्य पदार्थों से प्राप्त होता है।
  3. आँखों और कनपटी के बीच झुरिया सुखेपन और इक्सप्रेशन लाइनों के कारण होती है। यह फाइबर कोशिकीय गतिविधि के नहीं होने, कोलेजन फाइबर में कमी और टूट-फूट एवं प्रोटीन सिंथेसिस की कम दर के कारण होता है।
  4.  विटामिन H शरीर में कार्बोहाइड्रेट्स को तोड़ने में मदद करता है और स्वस्थ ब्लड शुगर स्तर बनायें रखता है।
  5.  अंडे के कच्चे भाग को खाने से बायोटिन मिलता है जो विकास में सहायक है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *