Zika Virus In India || जीका वायरस का उपचार

By | June 10, 2018

Zika Virus In India || जीका वायरस का उपचार:

जीका वायरस एडीज मच्छर से फैलता है। जीका वायरस (Zika virus) एक बहुत ही खतरनाक वायरस (virus) है। पूर्वी अफ्रीकी विषाणु अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों को जिका के जंगल में रीसस मकाक को पिंजरे में रख कर अपना शोध कर रहे थे। उस बंदर को बुखार हो जाता है। 1952 में उसके संक्रामक घटक को जिका विषाणु नाम से बताया गया। यह इसके बाद नाइजीरिया में वर्ष 1954 में एक मानव से निकाला गया था।

अप्रैल 2007 में इसका प्रभाव पहली बार अफ्रीका और एशिया के बाहर देखने को मिला। यप नामक एक द्वीप में लाल चकत्ते, नेत्रश्लेष्मलाशोथ, और जोड़ों के दर्द के रूप में इसका असर दिखा, जिसे सामान्यतः डेंगू या चिकनगुनिया समझा जा रहा था। लेकिन जब बीमार लोगों के रक्त का परीक्षण किया गया तो उनके रक्त में जिका विषाणु का आरएनए पाया गया।Zika Virus In India

Zika Virus Symptoms || जीका वायरस के लक्षण:

जीका वायरस का उपचार:

  • मच्छरों से दूर रहना  ही इससे बचने का सबसे कारगर उपाय है ।
  • इसलिए मच्छरों के काटने से बचने के लिए रेप्लेंट क्रीम, मच्छरदानी, आदि का प्रयोग करें।
  • मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए अपने घर के आसपास गमले, बाल्टी, कूलर आदि में भरा पानी निकाल दें।
  • पानी ज्यादा से ज्यादा पीया करें जिससे डीहाईड्रेशन न हों।
  • जीका वायरस का फिलहाल कोई टीका उपलब्ध नहीं है।
  • डब्ल्यूएचओ (WHO) का कहना है कि स्थिति में सुधार नहीं होने पर फौरन डॉक्टर को दिखाना चाहिए।
  • बार-बार हाथ-पैर धोये| किसी भी प्रकार की गन्दगी ना रखे ना ही होने दे।
  • बाहर के पेकिंग खाद्य पदार्थो का उपयोग ना करे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *